articles

articles

|| इंशाअल्लाह वाक्य खोखला साबित हुवा || प्रायः हमें इसलाम के मानने वालों से सुनने को मिलता है, बार, बार, इंशाअल्लाह मुसलमानों का यह तकिया कलाम है | किसी भी

सरकार इन विश्वविद्यालयों को बन्द करें || पढने के लिए विश्वविद्यालय हैं, या राजनीती का अखाडा ? यह बात सम्पूर्ण भारत वासियों को सोचना चाहिए, की हमारा पैसा सरकार किनके

||जिस देश को सोने की चिड़िया कहा लोगों ने|| आखिर इस देश को सोने की चिड़िया किस लिए कहा गया, अन्य किसी और देश को नहीं मात्र और मात्र इसी

|| ईश्वर को जानने के लिए सृष्टि विज्ञान को जानना होगा || यह विचार ऋषि देव दयानन्द जी का है, मानव मात्र को चाहिए सृष्टि रचना को भली प्रकार जानना

कैसे विचित्र किस्सा है कुरान में देखें || यह प्रमाण इबने कसीर पेज 458 में बताया 10 सूरा 9 तौबा आयात 30 का सन्दर्भ = चुनांचे आप वहीं तशरीफ लेगये

  जो लोग कहते हैं जिहाद लड़ाई नहीं हैं || दुनिया वालों को चाहिए जिस किताब को लोग धर्मग्रन्थ कहते हैं, इस किताब में किस प्रकार मुसलमानों को काफिरों से

कुरानी आयत उतरने का कारण देखें || यह प्रमाण इबने कसीर पेज 488 पारा 10 सूरा 9 आयात 70 का सन्दर्भ = बद कारों की माजी {बिताहुवासमय} से ज्ञान प्राप्त

आर्य जनों को सुचना महेन्द्रपाल की ओर से || कल 26 /12 /19 को रात्रि 9 बजे सभी सामयिक विषयों पर फेसबुक लाइव में आ रहा हूँ -आप लोग अपना

मानव कहलाने की बात हैं, या आचरण करने की ? भारत सरकार ने जो बिल लाया है नागरिकता संशोधन का उसे लेकर भारत के कई राज्यों में हिंसा आग जनि

|| इतिहास के झरोखेसे || इतिहास साक्षी है की, सृष्टि की रचना इसी आर्यावर्त देश से हुई –उसके बाद असंख मानव कहलाने वाले यत्र तत्र उत्तर उत्तर विकसित होते गये