articles

articles

|| मानव समाज को तबाह किया है मतपंथ विचारधारा ने || यह सिद्ध बात है की 5000 वर्षों से पूर्व एक सत्य सनातन वैदिक धर्म को छोड़कर धरती पर दूसरा

|| मत्त्वा कर्मणि सिव्वते || मानव किसे कहते हैं प्रत्येक मानव कहलाने वालों को यह जानना जरूरी है | मानव वह हैं जो विचारवाण, सुझबुझ रखने वाला अक्लसे काम लेने

हिन्दू या आर्य कहलाने वालों अब तो जागो || एक तरफ तो आप आर्य या हिन्दू कहलाने वालों जय श्री राम का नारा लगाते हैं और अपने को राम का

धर्म के नाम झगडा कैसे मिटे ? आज मानव समाज में सब से बड़ी परेशानी और मुसीबत खड़ी है धर्म के नाम मानव समाज में झगडा |   धर्म शब्द

बुधिष्ट हिन्दुओं को गाली देना बन्द करें || आज का यह फैशन बनगया ब्राह्मणों को गाली देना, हिदुओं को गाली देना बुरा भला कहना | यह सब काम बौद्ध धर्मी

आज साइंस जर्नी को खीर ज्ञान बताएँगे || कल डॉ0 जाकिर नाईक को बकरीद की क़ुरबानी पर बोला है जो आप लोगोंको मिल गया |   आज बनाऊंगा इन अधर्मी

जो अल्लाह पशु काटने को कहे वह दयालु कैसे ? ईद का मतलब ख़ुशी, इस्लाम मत के अनुसार यह साल में दो बार मनाई जाती है इन इस्लाम में साल

क़ुरबानी हो या फिर वली धर्म के नाम पाखंड है || पशु काटना अगर धर्म है तो अधर्म किसे कहेंगे ? प्रायः लोगों को पता है की मानव समाज में

प्रधान मंत्री द्वारा भूमि पूजन क्यों नहीं ? देश का कितना बड़ा दुर्भाग्य है की आज प्रधान मंत्री जी के अयोध्या में राम मन्दिर वाला भूमि पूजन का विरोध उन

अम्बेडकर की नकारात्मक सोच ने हिन्दुओं को बांटा | हम भारतियों ने सत्य को जानने का प्रयास ही नही किया, सत्य को अपनाना तो बहुत दूर की बात है |