आर्य भद्र जनों को एक हर्ष की जानकारी

आर्य भद्र जनों को एक हर्ष की जानकारी |
आप सभी लोगों को पता, है की ऋषि मिशन का काम महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में सबसे तेजी के साथ चल रहा है |

दरअसल बात यह है की मेरा नेटवर्क सम्पूर्ण विश्व भर में है | और भारत में भी हर शहरों में है, हर प्रान्तों में है | इसमें ज्यातर लोग जो मुझसे जुड़े हैं महाराष्ट्र में – उन सब को मैंने जोड़ा है आर्य श्रेष्ट श्रीमान मगनलाल दीवानी जी के साथ | श्री मगन लाल जी ने जो पोष्ट डाला है इसमें रोजाना हमारी मेम्बरों की बढ़ी संख्या को देख कर आप लोग भी हैरान होंगे |जो काम मुम्बई आर्य समाजियों ने नही किया वही काम हमारे संपर्क के लोग कर रहे हैं |

भीम आर्मी को अलविदा कह कर आये एक युवा का फोटो उन्हों ने डाला है शायद देखा होगा आप लोगों ने | जो मुझ से जुड़े थे मैंने मगंनलाल जी से जोड़ा है अगले 25 अगस्त को मेरे द्वारा उपनयन होना है,उनका |

इसके अतिरिक्त एक मुस्लिम परिवार की शिद्धि होना है -एक हाफ़िज़ साहब भी हमारे कार्यक्रम में शामिल रहेंगे | सत्य सनातन वैदिक धर्म को मुझसे समझने के लिए |

लोगों को भले ही मैं जोड़ रहा हूँ परन्तु उन्हें आत्मिक खुराक और वैदिक मान्यता से जोड़ ने में श्री मगनलाल दीवानी जी का बहुत बड़ा योगदान है और पुरुषार्थ भी है | उन्हें वैदिक साहित्य देकर पूर्ण वैदिक धर्मी बनाने में बहुत बड़ा सहयोग है उनका |

ठीक इसी प्रकार दिल्ली में भी पहलवान धर्म वीर जी भी मोर्चा संभाल रहे हैं ,ज्यादातर इस्लाम वाले जितने भी मेरे संपर्क में होते हैं मैं उन्ही के पास भेजता हूँ | और बड़े ही सावधानी के साथ उन्हें निरुत्तर करते हैं | कई पादरी को भी उनसे मिलाया जो मेरे सामने हाथ जोड़ते पैर पड़ते देखा होगा और सुना भी होगा मेरे चेनल में |
कई पादरी धरमवीर जे के पास घुटने टेक दिया है | उसमें सबसे पहला नाम पासटर ज्ञानी चाँद का है जो हरियाणा केथल के रहने वाले हैं |

इस प्रकार आसाम, बंगाल -बिहार -उदिश्य – झादखंड – मध्यप्रदेश – छत्तीस गड – इन सभी प्रान्तों से ईसाई और मुसलमान मेरे संपर्क में आकर सत्य सनातन वैदिक धर्मी बने है |
यह सभी काम आप लोगों की कृपा और दया दृष्टि से ही मैं कर पाया हूँ और कर पा रहा हूँ | इस कार्य का सारा श्रेय मैं अपने सभी मित्रों को साथियों को सहयोगियों को देना चाहूँगा |
सब को धन्यवाद देते हुए महेन्द्रपाल आर्य | 19 /8 /19