इस्लाम की बुनियाद हिलादी चीन ने | फिर भी इस्लाम खामोश |

इस्लाम की बुनियाद हिलादी चीन ने ||

इस्लाम के असत्य होने का सबसे बड़ा प्रमाण यही है, की चीन पर इनकी जुबान नहीं खुलती | कारण सच तो सब जगह सच होना चाहिए – किन्तु चीन ने इस्लाम को झूठ सिद्ध कर दिखाया || चीन ने मात्र इस्लाम ही नहीं बल्कि जिसपर इस्लाम की बुनियाद है कुरान उसे ही हिलाकर रख दिया ||

जबसे भारत में बीजेपी की सरकार बनी उस समय से लेकर अब तक सरकार को अस्थिर करने के लिए सभी बीजेपी और मोदी विरोधियों ने भरसक प्रयास किया और कर रहे हैं प्रधान मंत्री को बदनाम कैसे किया जाय |

वर्तमान समय में सभी सरकारविरोधियों ने लामबन्द होकर प्रयासरत हैं की किस प्रकार से मोदी का विरोध हो ? इसे करते करते विरोधी सड़क पर आ गये और छोटे छोटे बच्चों को सिखाया मोदी को अमित शाह को किस प्रकार क्या क्या गाली देना है ? यह करते करते राष्ट्र विरोधी बातें करने में भी अपनी निडरता दिखादी |

जिसपर चिंतन और विचार करना है वह यह है की, यह मोदी विरोध से लेकर राष्ट्र विरोध तक हम जो भी देख रहे हैं वह सब इस्लाम वाले ही क्यों ? यह विषय सोचने और विचारने की हैं |  jnu में नारा भारत तेरे टुकड़े होंगे – इंशाअल्लाह- इंशा अल्लाह – से लेकर अफजल हम शर्मिंदा हैं -तेरे कातिल जिन्दा हैं – यह नारा कौन लोग लगाये थे ? हमारा तुम्हारा क्या नाता ? ला इलाहा इल्ला लाल्लाह मोहम्मादुर रसूल अल्लाह, हिदुओं का कबर खोदेंगे |

उस समय का छात्र नेता कन्हैया कुमार इस्लाम कुबूल कर लिया है – व्हाट्सअप में विडिओ लगा है | चन्द्रशेखररावण भीम आर्मी वाले ने इस्लाम स्वीकार किया है | कल 28 को पकड़ा गया शरजिल इमाम कौन है ? jnu में फातिमा नाम की लड़की सुप्रीम कोर्ट पर सवाल उठाते  वाली अफज़ल गुरु बम कांड में लिप्त नही था कोर्ट ने उस निर्दोष को फांसी दिया सुप्रीमकोर्ट से भरोसा उठगया | यह सभी बातें विद्यार्थियों के हैं ? वह पढ़कर क्या करेंगे भारत को तबाह करने की ख्वाब लिए जहां फिर रहे हों यह आतंकवादी ही तो कहलायेंगे |

सब मिलाकर यह जो कुछ भी बातें यह पढने और पढ़ाने वालों द्वारा हो रही है वह इस्लाम वाले कर रहे हैं | क्या इन लोगों में दम है की, चीन में इस्लाम को पूर्ण रुपेंण निरस्त कर दिया उसके खिलाफ जुबान खोलने की हिम्मत इन लोगों में क्यों नहीं है ?

महेन्द्रपाल आर्य 29 /1/20 =