कुरान की धड़ा धड़ गप्पे, ध्यान से पढ़ें |

अल्लाह ने क्या फरमाया कुरआन में देखें |
क्या तुझे इतना भी इल्म नहीं के आसमान व जमीन की हर चीज अल्लाह के इल्म में है, ये सब लिखी हुई किताब में महफूज़ है, अल्लाह ताला पर तो ये अमर बिलकुल आसान है |
 
कमाले इल्म रब की शान = रब के कमाल इल्म का बयान हो रहा है, के जमीन व आसमान की हर चीज उसके इल्म के आहाता में है | एक जर्रा भी उससे बाहर नही – कायनात के वजूद से पहले ही उसे कायनात का इल्म उसे था बल्कि उसने लौहे महफूज़ में लिखवा दिया था |
 
सहीह मुस्लिम हदीस में है कि अल्लाह ताला ने आसमान व ज़मीन की पैदाइश से 50,000 साल पहले जबकि उसका अर्श पानी पर था मखलूक की तक़दीर लिखी – सुनन की हदीस में है के सबसे पहले अल्लाह ताला ने कलम को पैदा किया और उससे फरमाया लिख – उसने दरियाफ्त किया क्या लिखूं ? फ़रमाया जो कुछ होने वाला है – पस क़यामत तक जो कुछ होने वाला था उसे कलम ने कलमबद्ध कर दिया |
 
दुनिया वालों को कुरान की इन आयातों पर विचार करना चाहिए, अल्लाह की ये बातें सच क्यूँ और कैसा होना सम्भव है ? इसमें लिखा है, दुनिया बनाने से पहले अल्लाह ने कलम को पैदा किया, सवाल है कलम को किस चीज से पैदा किया गया ? कलम बनाने के लिए क्या-क्या सामान चाहिए उसके बगैर कलम का बनाया जाना सम्भव कैसे है ?
 
अभी इन्सान पैदा ही नही हुआ उन इंसानों का किस्मत लिखना या लिखवाना क्या ये बात हास्यकर नही ? पढ़े लिखे लोग इस किस्से को सच मान सकते है ? ये भी लिखा दुनिया बनने से 50,000 साल पहले लिखा गया, हैरानी की बात ये है की 50,000 साल का गिनना अल्लाह के लिए कैसे सम्भव हुआ ? कुरान की इन बेतुकी बातों को जो लोग पत्थर की लकीर मानते है उन्हें अपना दिमागी इलाज करा लेना चाहिए | महेंद्र पाल आर्य 19-07-21