दुनिया वालों कुरान में अल्लाह का बयान सुनिए ||

|| दुनिया वालों अल्लाह का बयाँन सुनिए ||
मानव कहलाने वालों जरा अल्लाह के फरमान कुरान की इन दो आयातों पर विचार करें |
यहाँ अल्लाह ने अपने नबियों से वादा करवाया, के तुम्हारे पास जो रसूल आयें और उन्हों ने जो सच बताया तुमको उन सब पर ईमान लाना,{विश्वास} करना और उनकी मदद {सहायता} करना जरूरी है | आगे के शब्द देखें की तुम इसके वचन वद्ध हो, और इस कार्य को तुमसब जिम्मे ले रहे हो | और नबियों ने कहा हम सब गवाह {शाक्षी} हैं,और तुमसब के साथ मैं भी गवाह हूँ |
इससे जो पलट जाए वह निश्चित नाफरमान है इंकार करने वाला है | क्या अल्लाह अपने पैगम्बरों से वार्ता करने वाले शारीर धारी नहीं है ?

इससे आगे भी अल्लाह ने कहा जमीन और आसमान में जो कुछ भी है वह सब अल्लाह की इबादत करते है {उपासना} करते हैं |

दुनिया में मानव कहलाने वालों को छोड़ उपासना करने के योग्य कोई है क्या एक मानव ही परमात्मा की उपासना के लायेक योग्य है दूसरा और कोई नहीं, अन्य प्राणी कोई ना परमात्मा को जान सकता है और ना ही उपसना कर सकता है,यही भेद मानवों में और पशुओं में है |
इन छोटी सी बातों की जानकारी कुरानी अथवा मुसलमानों के अल्लाह को नहीं है, फिर उसी अल्लाह को दुनिया का बनाने वाला कहा जा रहा है ? यह बात सोचने और समझने की है जिससे अल्लाह और ईश्वर में भेद क्या है जाना जा सकता है |

وَكَيْفَ أَخَافُ مَا أَشْرَكْتُمْ وَلَا تَخَافُونَ أَنَّكُمْ أَشْرَكْتُم بِاللَّهِ مَا لَمْ يُنَزِّلْ بِهِ عَلَيْكُمْ سُلْطَانًا ۚ فَأَيُّ الْفَرِيقَيْنِ أَحَقُّ بِالْأَمْنِ ۖ إِن كُنتُمْ تَعْلَمُونَ [٦:٨١]
الَّذِينَ آمَنُوا وَلَمْ يَلْبِسُوا إِيمَانَهُم بِظُلْمٍ أُولَٰئِكَ لَهُمُ الْأَمْنُ وَهُم مُّهْتَدُونَ [٦:٨٢]

अर्थ :-जब अल्लाह ताला ने नबियों से अहद {वादा} लिया के जब मैं तुमको किताब व हिकमत {बुद्धि} दूँ फिर तुम्हारे पास वह रसूल आये जो तुम्हारे पास की चीज को सच बताये तो तुमको उस पर ईमान लाना और उसकी मदद {सहायता} जरूरी है और फरमाया तुम इसके इकरारी {जुबान देने वाले हो} और उसपर मेरा जिम्मा ले रहे हो ? सबने कहा हमें इकरार है अल्लाह ने फ़रमाया तो अब गवाह {शाक्षी}रहो और खुद मैं भी तुम्हारे साथ गवाह {शाक्षी}हूँ | इसके बाद भी जो पलट जाएँ वह यकीनन {निश्चित} नाफरमान {इनकारकरनेवालाहै}

मैंने थोड़ा सा अल्लाह और ईश्वर के भेद को सामने रखा है आप लोग भी इसपर विचार करेंगे जिस से की ईश्वर अल्लाह तेरो नाम गलत है अथवा नहीं का पता दुनिया वालों को लगे | कुरान भरा पड़ा है ऐसी बातों से |
ध्न्य्वाद्के साथ महेंद्र पाल आर्य =23 /2 /19