दुनिया वालों देखें झूठों की मक्कारों की मक्कारी |

दुनिया वालों देखें झूठे मक्कारों की मक्कारी ||
 
किसी भी ईसाई और मुस्लिम को डिबेट के लिए यह खुली चुनौती के साथ निमंत्रण पत्र प्रस्तुत है |
 
जिस किसी को डिबेट करनी हो इस निमंत्रण पत्र में विषय और स्थान भी लिखा है इच्छुक बन्दुओं से निवेदन है की इस तप पते से आप जिसको भी डिबेट करनी हो संपर्क करे | याद रहे की डिबेट से पहले कुछ शर्तें हैं जिसे पूरा करना जरूरी होगा |
 
जैसा पहला शर्त है स्टाम्प पेपर में लिखित स्वीकृति दोनों पक्ष की होगी, जिससे कोई उसे अस्वीकार न कर सके |
 
दूसरी बात यह होगी की, की उन ग्रंथों का हवाला हमारी मान्य नहीं होगी जो वैदिक न हो | अर्थात वेद विरुद्ध किसी भी ग्रंथों का प्रमाण मानी नहीं जायगि | आप भी बताएं गे =
कौन को न सी ग्रन्थ आप मानते है, और किन किन की नहीं | यह सभी बातें उस पेपर में उल्लेक करना होगा |
 
आर्य समाज सूरज पुर की ओर से यह पत्र उस सूफी दीनदार बतलाने वालों को दी गई थी 21 /4 / 2016 को आज तक इसका जवाब नहीं दे पाया और न दिया है |
 
और लफ्फाजी कर रहे हैं विडिओ बना, बनाकर डाल रहे हैं की मेन्द्रपाल आर्य भाग गया जवाब नहीं दे पाया अदि | जब की विडिओ में ही मेरा जवाब है |
 
प्रमाण आप लोगों के सामने है इन झूठे और मिथ्यावादियों को आप लोग भीं सब मिलकर इसी पत्र को उन लोगों तक पहुँचा दीजिये कृपा होगी |
 
यह विडिओ में कह रहे हैं की एक महिना डिबेट करेंगे डेढ़ घंटा = दोनों का समय होगा एक बार वह बोलेंगे दूसरी बार दूसरा पक्ष बोलेगा |
 
इस चुनौती को मैंने स्वीकार किया था यह पत्र आप लोग भी पढ़लें जब की यह 2016 को उन्हें लिखा गया था,आज तक जिसका जवाब नहीं दे सके और न दे सकते हैं |
एक घंटा भी मेरे सामने तो क्या मेरे बनाये गये शिष्यों के सामने भी टिक नहीं पाएंगे, यह मेरी गरंटी है |
मैं तो इसी लिए सामने बैठकर स्टाम्प पेपर में लिखा पढ़ी कर के करना चाहता हूँ की यह सब के सामने प्रमाणित हो सके |
 
विडिओ विडिओ खेलने से समपूर्ण दुनिया वालों को पता नहीं चल पायेगा, इसी लिए सामने बैठना जरूरी है, जिससे की दुनिया के लोग यह जान सके
की कुरान और बाइबिल ईश्वरीय किताब नहीं है |
 
यह किस्सा कहानी की किताब है इसे आप लोग भी पढ़ें उन्हें भी भेजें जो लोग नाच रहे हैं | धन्यवाद के साथ महेन्द्रपाल आर्य | 20 /6 /20 सुबह 7 बजे लिखा || आज 7 /1 /20 को पुन:आप लोगों के सामने प्रस्तुत है |