यह है कल उपनयन के बाद का चित्र |

यह है कल उपनयन के बाद का चित्र |
||पसम्पूर्ण आर्य जगत को खुश खबरी ||
इंटरनेट जगत में मेरे साथ सम्पूर्ण विश्व भर में लोग जुड़े, विशेष कर भारत भर यह प्रचार प्रसार सभी प्रान्तों में मेरी टीम कार्य कर रही है |

सबसे सकृय मुम्बई की टीम है, महाराष्ट्र के जो कोई भी मेरे साथ जुड़ते हैं, उन सब को मुम्बई में मेरे मित्र श्री मगनलाल दीवानी जी जो गुजरात के रहने वाले हैं, मुम्बई में बिल्डिंग विल्डर का काम है | इनके साथ सब को जोड़ने का काम मेरा है | उन्हें सम्भाल ने का काम श्री मगनलाल जी का है |

श्री मगनलाल आर्य जी अपने काम से ज्यदा प्रधानता देते हैं वैदिक धर्म के प्रचार प्रसार में | जिसमें अपने साथ जुड़े लोगों को प्रत्येक रविबार को सत्संग के नाम से दूसरों की स्थान पर जहाँ जहाँ जिस साईट में इनका काम चलता है उसी जगह सब को बुलाते हैं | और चालू होजाता है वैदिक विचार -यज्ञ आदि कार्य क्रम – सत्यार्थ प्रकाश, ऋगवेदादि – भाष्य भूमिका -ऋषि कृत ग्रन्थों का प्रचार = साथ ही दर्शनग्रन्थों की जानकारी |

इसी प्रकार हमारी यह टीम अबतक कई मुसलिम परिवारों की शुद्धि करा चुकी है, मैं भारत के किसी भी कोने में रहता हूँ यह टीम मेरे साथ निरंतर जुड़ कर प्रेरणा लेती रहती है | और ऋषि मिशन को गति देने में निरंतर प्रयास रत हैं,श्री मगनलाल जी |
जहां तक मैं जानता हूँ शायद मुम्बई की किसी भी आर्य समाज में यह काम नहीं होता है, कारण आर्य समाज की भवनों में जो कार्य होना था वह काम गौण हो गया, शादी विबाह में किराया पर चलाना व्यवसाय का केंद्र बन गाय विश्व भर का आर्यसमाज | मात्र मुम्बई में नहीं सब जगह यही दशा है |

श्री मगनलाल आर्य जी बहुत ही लगन के साथ वैदिक प्रचार प्रसार में अपने व्यवसाय में से समय निकाल कर ऋषि दयानन्द जी के विचारों को जन, जन , में पहुंचा रहे हैं | प्रत्येक महीने में हजारों का साहित्य लोगों को बांटते रहते हैं | शुद्धि का कार्य जो मेरा मुख्य कार्य रहा है यह मुम्बई वाली टीम उसी काम को अंजाम देने में बहुत ही अग्रणी हैं अबतक कई मुसलिम परिवार की सुद्धि मेंरे निर्देशानुसार, श्री मगनलाल आर्य जी के नेत्तृत्व में हो चूका हैं |

कल 25 अगस्त 2019 को श्री मगनलाल जी के देखरेख में एक ऐतिहासिक काम हुवा किशोर नाम का एक व्यक्ति मेरे साथ नेटपर जुड़ा, जो मुम्बई का है मराठी भाषी है, मैंने उन्हें श्री मगनलाल जी के साथ जोड़ दिया था |

उनका उपनयन संस्कार मेरे द्वारा हमारी टीम के सभी सदस्यों के साथ संपन्न कराया गया, जो भीम आर्मी जयभीम को अलविदा कह कर हम लोगों से जुड़ा है, हमारी पूरी टीम ने भरपूर स्वागत किया श्री किशोर जी का | सबने भरपूर आशीर्वाद दिया |

एक बात आर्य लोगों के सामने और रख रहा हूँ जिससे मुम्बई के अर्या समाजियों का भी पता चले | कुछ दिन पहले इसलाम वालों ने मुझसे डिबेट करने को कहा | मैंने यह बातें मगनलाल जी से कही इन्हों ने स्वीकृति दे दी और मोलाना लोग भी तैयार हुए | मगनलाल जी ने आर्य समाज सान्ताक्रूज समाज के अधिकारीयों से सम्पर्क किया | दुरभाग्य से समाज ने शास्त्रार्थ के लिए हम लोगों को जगह नहीं दिया |

यह है मुम्बई की आर्य समाज और उसके अधिकारी हमें कार्य क्रम करने तो दिया किन्तु डिबेट करने के लिए जगह नहीं दिया | इन्हों ने श्री मगनलाल जी को साफ़ मना करदिया | आज इसबात को मैं आप लोगों को बताने के लिए मजबूर हवा हूँ की मगनलाल जी द्वारा वैदिक प्रचार के लिए जो कार्य हो रहा है मुम्बई के किसी भी आर्य समाज के अधिकारीयों का कोई प्रोत्साहन नहीं मिला | परमात्मा की असीम अनुकम्पा है की श्री मगनलाल जी सभी काम को अंजाम दे रहे हैं | यह छोटी सी जानकारी मैंने आप लोगों की दी है = धन्यवाद के साथ महेन्द्रपाल आर्य – 26 /8 /019 -शाम 5 बजे =

Image may contain: 6 people, people standing