रामदेव की असलियत सुनिए और देखिये भी |

https://www.youtube.com/watch?v=Sctwhn5pCDM&feature=youtu.be&fbclid=IwAR0n2NNvO65xKObgtXEg0hQtl4zUeU_iWv9iseXeoOc0ZAMsVSWVmUoN2g4
 
आर्य समाजियों और विशेष कर आर्य समाज के अधिकारीयों इस विडिओ को ध्यान से सुनिए | जो आर्य समाजी रामदेव को आर्य समाजी मानते हैं अथवा हिन्हू कहलाने वाले मानते हैं वह लोग विशेष कर इस विडिओ को जरुर सुनें |
यह मौलाना राम देव के सामने अल्लोप्निषद सुना रहा है, जो ना तो संस्कृत है और न अरबी है | उस काल में ऋषि दयानन्द जी ने अपनी सत्यार्थ प्रकाश में इसी अल्लोप्निश्द की चर्चा की है | की मुसलमानों ने यह षडयन्त्र तो उस काल में रचाथा |
 
ऋषि दयानंद स्पष्ट लिखा है की किसी भी उपनिषद का नाम अल्लोप्निषद नहीं है | यह राम देव को गुरुकुल का स्नातक बताया जाता है, तो क्या उसने गुरुकुल में यही शिक्षा लिया है ? आचार्य वलदेव जी ने इन्हें यही सिखाया है ? और यह इस गलत बयानी को सुनकर चुप बैठा है अपनी प्रशंसा सुनने के लिए | इसी राम देव के मन्च पर एक मौलानाने कहा था कुरान पाँचवा वेड है उस समय भी यही रामदेव चुपचाप सुता रहा, उसे मना नही कर पाया |
आर्य समाजी और हिन्दू कहलाने वालो रामदेव की सत्यता को आप लोग भी जानें की यह न संस्कृत जानता है और न गुरुकुलीय शिक्षा को जानता है | जिस संस्कृत को मौलाना अरबी में बोल रहा है राम देव के पास इसका विरोध करने तह की विद्या नहीं है | महेंद्र पाल आर्य = 5 /11/18 =शाम 7