सरकार से मेरी अपील |

सरकार से मेरी अपील ||
कल 23 /11 /20 को आप लोगों ने विभन्न TV चेनलों पर देखा और सुना है की बिहार से चुने गये MLA = AIMIM = के नेता असदुद्दीन के पार्टी से चुन कर आये | इन्हों ने बिहार विधान सभा में एक नया बिवाद खड़ा किया = उर्दू में शपत लिया और उसी उर्दू में हिन्दुस्थान लिखा है जिसे बोलने से मना किया और बोला भी नहीं |
 
मेरा कहना है अगर उर्दू में हिन्दुस्थान लिखा है और कोई उसे बोलना नहीं चाहता है – तो सबसे पहले इस उर्दू भाषा को भारत से समाप्त कर देना चाहिए |
 
इसलिए भी करना चाहिए की यह उर्दू सिर्फ और सिर्फ मुसलमानों की ही भाषा है, जब मुसलमान उसी उर्दू में लिखे गये हिन्दुस्थान शब्द को बोलना नहीं चाहते तो उर्दू भाषा भारत में किसलिए और किनके लिए ?
 
हमारी सरकार को सख्ती वरत ते हुए उन लोगों पर शिकंजा कसना चाहिए जो लोग हिन्दुस्थान में रहकर, बन्दे मातरम बोलना नहीं चाहते, भारत माता की जय बोलना नहीं चाहते और हिन्दुस्थान भी बोलना नहीं चाहते | ऐसे लोगों को हिन्दुस्थान में रहने का क्या अधिकार है ?
 
सरकार को देर न लगाते हुए इसदेश का नाम हिन्दुस्थान ही रख देना चाहिए = न भारत = न इण्डिया = सीधा हिन्दुस्थान की घोषणा करें अविलम्ब |
 
इसके बाद जिन्हें हिन्दुस्थान कहना नहीं हो वह इस देख को छोड़ दें, उन्हें चुनाव लड़ने का अघिकार न हो और न वोट डालने का कोई अधिकार सब खत्म कर देना चाहिए,तभी इस देश की रक्षा हो सकती है |
 
इससे पहले इसी AIMIM के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था मेरे गले में कोई छुरी चलादे हम भारत माता की जय नहीं बोलेंगे | यह विडिओ मैंने उसी समय बना कर जनमानस में प्रस्तुत किया, की यह जनाब खुद भारत माता की जय बोल कर, फिर कह रहे नहीं बोलूँगा |
 
हमारी सरकार इस देश का नाम अगर हिन्दुस्थान करदे तभी इन जैसों की दाल गलना बंद होगी, और सरकार को चाहिए देर न लगाते हुए इसदेश को हिन्दुस्थान नाम रखदें यही मेरी अपील सरकार से है = प्रमाण के साथ यह विडिओ प्रस्तुत है इसे देखें और सुनें = धन्यवाद के साथ महेन्द्रपाल आर्य = 24 /11 /20
https://www.youtube.com/watch?v=qAaHaMbe16I
Asaduddin Owaisi : I Won’t Say ‘Bharat Mata Ki Jai’
AIMIM leader Asaduddin Owaisi has said he will not chant ‘Bharat Mata Ki Jai,’ his comments came against the backdrop of RSS chief Mohan Bhagwat’s suggestion…
youtube.com=== सम्पूर्ण जगत वासियों से मेरी विनती है की ज़रा गौर से सुनना इस साहेबान को जो यह कहरहे हैं मैं भारत माता की जय नही बोलूँगा | खुद बोल भी रहा है एक बार नही दो बार बोला है मैं भारत माता की जय नही कहूँगा चाहे मेरी गर्दन में छुरी रखदे |
उसी बोल को बोल रहा है जो बोलना नही चाहता | यह लोग कितने बड़े अकल मन्द हैं दुनिया के लोगो जरा सुनेंऔर विचारें कीअक्ल नाम की कोई प्रोयोग किया है अथवा नही ?
सलमान खान से मेरी वार्ता इसी अकल पर आप लोगों ने कल इसी पेज में देखा और पढ़ा भी उसने फिर आज लिखा है क्या लिखा उसका जवाबअभी अगले पोस्ट में दे रहा हूँ | यहाँ अक्ल की बात थी इसलिए मैंने आप लोगों को यह दिया की वह खुद कहा दो बार =मैं भारत माता की जय नही बोलूँगा =यह शब्द जुबान से निकालने का नाम ही तो बोलना हुवा ?
 
कई बार बंगाल में देखता हूँ दुकानदार बंगाली है= कोई हिन्दी भाषी गया दुकान में दुकानदार = हिन्दी नही बोलूँगा = क्या यह हिन्दी नही हुवा फिर नही बोलूँगा कहाँ रह गया ? यहाँ भी यही बात किया इन जनाब ने भारत माता की जय नहीं बोलूँगा | कह रहे और मना भी कर रहे है | यह कौन सी अकलमन्दी की बात ?



Website Hits: 4058