हिन्दू या आर्य कहलाने वालो अब तो जागो |

हिन्दू या आर्य कहलाने वालों अब तो जागो ||
एक तरफ तो आप आर्य या हिन्दू कहलाने वालों जय श्री राम का नारा लगाते हैं और अपने को राम का वंशज भी बताते हैं आदि आदि |
 
और निद्रा कुम्भकरण जैसी, यह राम की मर्यादा है,न कृष्ण की मर्यादा है ? मर्यादा पुरुषोत्तम राम ने पूरी जवानी लगाई दुष्टों को दंड देने में, योगेश्वर श्री कृष्ण जी ने भी यही किया |
 
केवल न्याय क्या है और अन्याय क्या है दुनिया को बताने के लिए अपना पराया नहीं केवल सत्य क्या है और असत्य क्या है इसे चरितार्थ करते हुए अपने सगे सम्वंधियों को भी मौत के घाट उतार दिया था |
 
तुम हिन्दू कहलाने वालों ने मर्यादा श्री राम से और श्री कृषण से सिखा क्या ? बस इतना ही सिखा जय श्री राम ? क्या इस नारे बाजी से काम चलाना चाहते हैं आप हिंदू कहलाने वाले ?
 
उन मुगल काल से अब तक झेलते आये इन इस्लामी अत्याचार को, न जाने भारत भर में कितनी मन्दिरों को तोडा गया कितनी मूर्तियों को खंडित किया गया,|
तुम्हारी मूर्तियाँ तमाशा देखती रही और उन मूर्तियों के साथ साथ आप हिन्दू कहलाने वाले भी तमाशा देखते रहे | उसकाल से लेकर आज तक यही देखते आरहे हैं आप हिन्दू या आर्य कहलाने वाले |
 
मर्यादा पुरुषोत्तम राम केवल हिन्दुओं के नहीं है वह आर्य थे और राम भी आर्यों का ही है,उन्ही राम के ही वंशज है |
इसके बावजूद आज सार्वदेशिक सभा में बैठे सन्यासी कहलाने वाले ऋषि दयानन्द जी की संस्था में बैठे गलत बयानी कर रहे हैं और अग्निवेश ने कहा सुप्रीम कोर्ट ने गलत फैसला दिया है |
 
मोदी जी ने मेनेज किया राम मन्दिर बनाने के लिए सुप्रीम कोर्ट को और अपने पक्ष में फैसला करा लिया | यही बात दूरदर्शन में बैठ कर इस्लाम के पक्षधर भी दोहरा रहे हैं |
 
सार्वदेशिक सभा में बैठकर आर्य वेश ने भी इसका विरोध नहीं किया और न यह बताया की हम अग्निवेश जी की बातों का समर्थन नहीं करते हैं या अग्नि वेश जी ने जो बातें कहीं उससे हम सहमत नहीं है ? आर्य वेश को यह कहने की हिम्मत नहीं कारण आर्यवेश को जन्म दिया अग्निवेश ने और सार्वदेशिक सभा में बिठाया भी अग्निवेश ने वह विरोध क्यों और कैसे करेंगे ?
 
विश्व भर में जितने भी आर्य समाजी कहलाने वाले और आर्य समाज के अधिकारी बने लोगों से मेरा सवाल है की- जो आर्य समाज के लोग आर्य वेश को अपनी समाज में बुलाते हैं अपने कार्यक्रम में निमंत्रण देते है क्या उनसे आप लोगों ने कभी पूछा है की आर्य वेश जी आप अग्निवेश के भारत विरोधी बातों का समर्थन करते हैं क्या ?
 
आज तक इस अनार्य अनिल ने भी नहीं पूछा जो अपने नाम से आर्य लगाता है, और न इस अनिल की फोटो पत्रिका ने कभी लिख कर भी नहीं पूछा |
 
इन अग्नि वेश के कहने पर आज न्यूज़ चेनल में भी 5 अगस्त को काला दिवस कहने वाले तस्लीम रहमानी कट्टर इस्लाम को उजागर करने वाले न्यूज़ चेनल में बैठ कर काला दिवस बता कर सम्पूर्ण हिन्दू और आर्य स्मजिओं को चुनौती दिया है |
 
मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड की महिला कार्य कर्त्री ने भारत सरकार को जो भारत की सबसे बड़ी पार्टी बन कर दोबार चुनकर आई हो उन्हें आतंक वादी का सरकार कहने वाली को भी पेनल में बैठ कर सुनने और सुनाने वाले दोनों ही दोषी नहीं है क्या ?
 
मौलाना साजिद राशिदी ने कहाँ मन्दिर तोड़ कर मस्जिद बनायेंगे, इतनी बड़ी बात कह कर हिन्दू तथा आर्य समजी और भारत सरकार के गाल में तमाचा नहीं मारी ? क्या इस न्यूज़ चेनल में बैठ कर सम्पूर्ण राम मन्दिर के समर्थकों को चुनौती नहीं दी ?
 
इन न्यूज़ 18 चेनल को नहीं चाहिए था की उनकी माइक बंद करादें या उन्हें चेनल से बाहर कर देना ? क्या इन चेनल वालों के कारण हिन्दुओं को या भारत सरकार को यह गाली सुनना जरूरी था, या गाली सुनवाना जरूरी समझा था अमिश देवगन ने ?
 
मैंने कल 6 अगस्त रात्रि 11 बजे इसी विषय को विडियो के माध्यम से youtube चेनल पर डाल दिया, भारतीय हिन्दुओं या आर्यों को चाहिए की पाकिस्तान में कृष्ण जी की मन्दिर को बनने के दौरान किस प्रकार तोडा गया दुनिया के लोगों ने भली प्रकार देखा है |
 
जब पाकिस्तान में मन्दिर नहीं बन सकती तो भारत में यह मस्जिद के नाम उधम क्यों मचा रहे हैं ? मैंने तो स्पष्ट चुनौती दिया है की इस्लाम को यह धर्म सिद्ध कर दिखाएँ मस्जिद की बात तो बाद में देख लेंगे |
 
जिस इस्लाम में महिलाओं को पुरुषों के आधा माना गया है वह महिला मुस्लिम पैरोकार बन कर न्यूज़ चेनल में सममित पात्रा को धमका रही थी और एक दिन नहीं दो दिन | जब पहला दिन यह बोल गईं तो दुसरे दिन चेनल ने किस लिए बुलाया ?
इस चेनल न्यूज़ 18 को सभी हिन्दू देखना बंद कर दें, इसी प्रार्थना के साथ महेन्द्र पाल आर्य = 7 /8/20 =