articles

articles

अम्बेडकर की नकारात्मक सोचने हिन्दुओं को बांटा | हम भारतियों ने सत्य को जानने का प्रयास ही नही किया, सत्य को अपनाना तो बहुत दूर की बात है | हम

मानव होने के नाते पहला कर्तव्य है धर्म पर आचरण करना जो मानव मात्र का एक है, दूसरा है राष्ट्र सेवा,तीसरा है प्राणी मात्र का कल्याण करना,यहीहैमानवता। धरती पर प्रत्येक

शाबादअहमद को अजान तर्क का जवाब =महेन्द्रपाल आर्य | मेरे भोले भाईयों इसे ही तो अंध विश्वास कहते हैं | रही बात आस्था की = तो आस्था से धर्म का

अपने ही देश में काला धन इतने मिलते जा रहे हैं जो, मात्र नोट बदलाव का नतीजा है। यह देशहित का काम हुवा है, इसका विरोध करनेवाले नेता देशप्रेमी हैं

क्या यही ईश्वरीय ज्ञान है ? धरती पर जितने भी मत पंथ हैं, सब की अपनी अपनी धर्म पुस्तकें भी हैं, किसी का कुरान है, किसीका बाईबिल है, किसीका पूराण

बांग्लादेश बार्डर में किसप्रकार कांटा तारसे हिफाजत | मैं बांग्लादेश बार्डर पर वेद प्रचार के लिये गया था यहाँ वेद प्रचार कार्य ना के बराबर है गिने चुने ही लोग

बांग्लादेश बार्डर में किसप्रकार कांटा तारसे हिफाजत | मैं बांग्लादेश बार्डर पर वेद प्रचार के लिये गया था यहाँ वेद प्रचार कार्य ना के बराबर है गिने चुने ही लोग

देशहित की भावना किन नेताओं में है ? धर्म प्रेमी बंधुयों, तथा देश वासियों, हम लोग बहुत हीअच्छी जगहों पे खड़े हैं | या तो यह कहिये की हम लोग

आज लोक सभा भी भतीजा वाद का शिकार | लोकसभा व राज्यसभा में हंगामा वही लोग कर रहे हैं जो जनता का शोषण कर करोड़ों हराम कमाया है नेता वही

धरना देने वाले नेताओं को जेल भेजना चाहिए | भारत वासियों यह तो बात सही है की आप लोगों का चयन ही गलत हुवा था | सही में देश प्रेमी


The Posts

Website Hits: 1884