| धर्म मानव मात्र के लिये एक ही है अलग नही | धर्मपर आचरण करने वालों का नाम मानव है कोई पशु धर्म नही जानता और ना पशु के लिए

|| वेद कहता है मानव बनो, कुरान कहता है मुस्लमान बनो || तन्तुं तन्वन रजसो भानुमिन्विहि, ज्योतिष्मतः पथो रक्ष धिया कृतान | अनुल्बणं वयत जोगुवामपो, मनुर्भव जनया दैव्यं जनम् ||

|| वेदो अखिलो धर्म मूलम् || वेद ही अखिल विश्व के धर्म का आदि मूल है |   आयें हम मानव कहलाने वाले जरा विचार करें, आज धरती पर जितने

https://youtu.be/ftTIP5VOPxA   अप दुनिया के लोग भी इसे कुरान से देखें | مَّن ذَا الَّذِي يُقْرِضُ اللَّهَ قَرْضًا حَسَنًا فَيُضَاعِفَهُ لَهُ أَضْعَافًا كَثِيرَةً ۚ وَاللَّهُ يَقْبِضُ وَيَبْسُطُ وَإِلَيْهِ تُرْجَعُونَ [٢:٢٤٥]