||सृष्टि उत्पत्ति व,धर्म वेदसे,हटते हटते,मतों का जन्म,भाग 12 || धर्मिक कृत्य और मन्तव्यों की उपयुक्त समानताओं के अतिरिक्त कुछ अन्य छोटो छोटी बातों में भी सदृश्य है, उन्हें भी देखते

सृष्टि विषय,व धर्म का आदि स्रोत वेद से है= भाग 11 1 = जीवन दुःखमय है, 2 =दुःख का कारण ईच्छा व तृष्णा है, 3 =तृष्णा के नाश से दुःख

https://youtu.be/PfDbIS6r8eU   रमजान के महीने में पत्नी से कब मिले खुदा का आदेश,कुरान में सुनिए

सृष्टि विषय, वेद से हटकर मंत पंथ बने = भाग 10 {5} ईसाई =जो व्यवहार अन्यों से तुम अपने लिए करना चाहते हो वैसा ही उनके साथ तुम भी करो

सृष्टि नियम,में एक दुसरे का नकल है=भाग 9 को देखें وَلَقَدْ جَاءَهُمْ رَسُولٌ مِّنْهُمْ فَكَذَّبُوهُ فَأَخَذَهُمُ الْعَذَابُ وَهُمْ ظَالِمُونَ [١٦:١١٣] कि भूक और ख़ौफ को ओढ़ना (बिछौना) बना दिया और