बिसमिल्लाह शब्द पर, दयानंद जी के मन्तव्य || सम्पूर्ण मानव समाज में,कुरान को कलामुल्लाह { अल्लाह की कही हुई वाणी } मानते हैं | अन्य ग्रंथो को भी ईश् वाणी

मानो आर्यों का ही मेला था | आर्य जगत के भामाशाह् कहेजाने वाले स्वनाम धन्य श्रीठाकुर विक्रम सिंह जीअपने जन्मस्थली खेडी राजपूताना= जिला मुज़फ़्फ़र् नगर उ०प्र० मे तीन दिवसीयआर्य सम्मेलनअपने

इस्लाम वालों के इस मिथ्याचार को देखें और सुनें | mahendra pal arya ko jawab/zakir naik 2016 youtube.com https://www.youtube.com/watch?v=mzz8qCLN60M youtube में किस प्रकार गलत प्रचार कर रहे इस्लाम वाले जरा