नमाज पढ़ना निजी लाभ है, उसमें सरकारी समय लेना राष्ट्र के साथ धोखा है | दुनिया वालों जरा विचार करें नमाज पढ़ना हो पूजा करनी हो यह सब किसलिए करते

प्रकाश करातकी पत्नी बिन्दाकरात से पूछना चाहिए, की pm का अर्थ पॉकेटमार 1947से है अथवा अभी से ? नेहरू से लेकर अबतलक सब के लिए या मोदी जी के लिए?

यह है संस्कार की बात, शायद लोगों को जानकारी ना हो ? राहुल गांधी प्रधानमंत्री जी को फेकू कहा यह संस्कार राहुल ने अपनी इटली वाली माँ से पाया,अगर राहुल

प्रधानमन्त्री जी को अनपढ़ बताना,भारतियों का अपमान नही ? | आज पूरी दुनिया में चर्चा है भारतीय प्रधानमंत्री जी के कार्य शैली व बुद्धिमानी को लेकर | अपने देश भारत