गाजियाबाद में उन्हें बुलाया, था जो हमें छोड़ गये सभी धर्म प्रेमी सज्जनों को विदित है कि मैंने पिछले दिनआप लोगों को सुचना दी थी कि गाजियाबाद के शम्भू दयाल

उरी घटना पर ना कोई राष्ट्रवादी कहने वाले मुस्लिम नेता का जुबान खुला,न बढ़ बोले किसी सेकुलर वादी नेता ही बोलपाये, सब की जुबान कटी केजरी जैसी ।   आश्चर्य

धर्म प्रेमी सज्जनों आर्य लोगो, मैं एक जरूरी सुचना आप लोगों के देना चाहता हूँ | वह यह है कि मैंने अपना बैंक खाता दिल्ली से कोलकाता लाया हूँ |

Edit Postहिन्दू लड़कियों को लव जिहाद व तलाक प्रथा से बचने के लिए जोदा बाई बनना पड़ेगा | जैसा अकबर को वेद उपनिषद सुना कर इस्लाम को निरुत्तर कर दीने