राष्ट्र में रहकर राष्ट्र का विरोध नहीं राष्ट्र से बाहर जा कर करें |