वैदिक विचार से मानव मात्र का उत्थान सम्भव |

https://youtu.be/lFyMWinWSBw
 
यही कारण है की हमारे ऋषि मुनियों ने वेदों की तरफ लौटने का उपदेश दिया है,जो लोग वेदों का पढना पढाना और सुनना सुनाना आर्यों का परम धर्म बोलते है वह अगर जिम्मेदारी से इन्हें कर्तव्य समझ कर प्रचार करते तो आज की समाज वेद से दूर न होते | 1875 में ऋषि दयानन्द जी ने लिखा है |



Website Hits: 4150