सत्य सनातन धर्मियों के पास वेद है, जो दुनिया के किसी मत मजहब वालों के पास नहीं |